सूचनाएँ

  1. हिन्दी-साहित्य; विशेषत: रामकथा, तुलसी-साहित्य के महान् अन्वेषी, सम्पादक, लेखक तथा आलोचक श्रीयुत् उदयशंकर दुबे (ग्राम - करेरुआ, जिला - मिर्ज़ापुर, उ०प्र०) के निधन पर प्रत्नकीर्ति परिवार हार्दिक श्रद्धाञ्जलि अर्पित करता है। आप इस संस्थान के शोधविभागीय ‘परामर्शक-मण्डल’ में पुरातत्त्व, पुरालिपि तथा पाण्डुलिपि के सम्मानित सदस्य थे। ‘प्रत्नकीर्ति’ पत्रिका के आप पुराने लेखक भी थे। 
  2. ‘प्रत्नकीर्ति’ पत्रिका, भाग-4, अङ्क-2, जुलाई-दिसम्बर 2023 हेतु शोधपत्र, आलेख, संस्मरण, पुस्तकों पर रिव्यू, समीक्षा, आलोचनाओं का आमन्त्रण