प्रत्नकीर्तिमपावृणु = कर प्रयत्न; कि पुरखों की थाती, पहुंचे उनकी सन्ततियों तक.

प्रत्नकीर्ति : संस्थान की षाण्मासिक समीक्षित शोध-पत्रिका : ISSN: 2322-0694

सम्पादक-मण्डल

  • डॉ. राकेश दाश (बेलुरु,प. बंगाल)
  • डॉ. नन्दिघोष महापात्र (ओडिशा)
  • डॉ. आशुतोष पारिक (अजमेर, राजस्थान)
  • डॉ. पंकजा घई कौशिक (नई दिल्ली)
  • डॉ. रंजन लता (गोरखपुर, उ. प्र.)
  • डॉ. शैख़ अब्दुल ग़नी (भोंगीर, तेलंगाना)
  • डॉ. उमेश कुमार सिंह (पंतनगर, उत्तराखण्ड)

सम्पादक

डा. लालाशंकर गयावाल (राजस्थान)

डा. प्रियव्रत मिश्र (ओडिशा)

प्रत्नकीर्ति प्राच्य शोध संस्थान
आराजी-469, सत्यम् नगर, भगवानपुर, लंका, वाराणसी, उ. प्र., भारत, पिन-221005