‘अखिल भारतीय मुस्लिम‑संस्कृत संरक्षण एवं प्राच्य शोध संस्थान’

प्रत्नकीर्ति : त्रैमासिक शोध-पत्रिका, ISSN 2322-0694


भाग-2, अंक-1, January-March, 2015
आत्मनिवेदन
लेख
  1. ‘दतिया स्टेट्’ (म. प्र.) की रामलीला की पाण्डुलिपियों में प्रयुक्त रहीम के छन्द
उदय शंकर दुबे
  1. संस्कृत-हस्तलिखित ग्रन्थों में सुरक्षित गणितीय साहित्य और उसके महान् उद्धारक : डॉ. के. वी. शर्मा
ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी
  1. ‘आल्हा’-छन्द में मनुस्मृति का सौ वर्ष प्राचीन एक विलक्षण अनुवाद
प्रताप कुमार मिश्र
  1. भारतीय एवं आग्नेय एशिया के रामकथाश्रित साहित्य में सीता-परित्याग के कारण
बिमलेश कुमार मौर्य
  1. जालन्धरपीठ-द्वारपाल विमर्श
राजीव कुमार त्रिगर्ती
विविधा
  1. ‘प्रत्नीकीर्ति’ में प्रकाशित लेखों के लिए घोषित पुरस्कारों का निर्णय
समकालीन पत्रिकाएं : शोध-सन्दर्भ
कृति-परिचय
  1. जहांगीरजस-चन्द्रिका का सम्पादित संस्करण एवं अंग्रेज़ी अनुवाद (A critical edition and highly reached English translation of “Jahangir Jas Candrika” of Keshva Rai, by Stefania Cavaliere)
उदय शंकर दुबे / प्रताप कुमार मिश्र
अखिल भारतीय मुस्लिम-संस्कृत संरक्षण एवं प्राच्य शोध संस्थान
आराजी-469, सत्यम् नगर, भगवानपुर, लंका, वाराणसी, उ. प्र., भारत, पिन-221005